पहली बार: कनाडा में 12 साल के बच्चों को लगेगी वैक्सीन, फाइजर को मिली अनुमति


कनाडा में बच्चों के लिए स्वीकृत यह पहली वैक्सीन है. (सांकेतिक तस्वीर)

Covid Vaccine for Kids: संभावना जताई जा रही है कि अमेरिका का फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (US FDA) अगले हफ्ते तक युवाओं के लिए फाइजर को अनुमति दे सकता है. कुछ ही हफ्तों पहले कंपनी ने पाया था कि उनकी वैक्सीन कम उम्र के लोगों पर भी प्रभावी है.

ओटावा. कनाडा (Canada) में जल्दी ही 12 से 15 साल के बच्चों को भी कोरोना वायरस (Coronavirus) का टीका लगने जा रहा है. देश में फाइजर (Pfizer) की कोविड वैक्सीन को इस आयु वर्ग के लिए अनुमति मिल गई है. इस बात की जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों ने दी है. खास बात है कि 12 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन को मंजूरी देने वाला कनाडा दुनिया का पहला देश है. इससे पहले 16 साल या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगाने की अनुमति थी. एपी की रिपोर्ट के अनुसार, हेल्थ कनाडा में मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉक्टर सुप्रिया शर्मा ने इस फैसले कि पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि इसके बाद बच्चों को सामान्य जीवन में लौटने में मदद मिलेगी. फिलहाल अमेरिका और यूरोपीय संघ में इसकी समीक्षा की जा रही है. शर्मा ने बताया कि मिले सबूतों से पता चलता है कि इस आयु वर्ग के लिए वैक्सीन सुरक्षित है और प्रभावी है. कनाडा में बच्चों के लिए स्वीकृत यह पहली वैक्सीन है. अमेरिका भी कर रहा है तैयारी संभावना जताई जा रही है कि अमेरिका का फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन अगले हफ्ते तक युवाओं के लिए फाइजर को अनुमति दे सकता है. कुछ ही हफ्तों पहले कंपनी ने पाया था कि उनकी वैक्सीन कम उम्र के लोगों पर भी प्रभावी है. मार्च में फाइजर ने 12-15 साल की उम्र के 2260 वॉलिंटियर्स पर हुई स्टडी के शुरुआती नतीजे जारी किए थे.इसमें बताया गया था कि डमी शॉट प्राप्त करने वाले 18 साल की उम्र के लोगों की तुलना में पूरी तरह वैक्सीन प्राप्त कर चुके इस आयु वर्ग के लोगों में कोविड-19 का कोई मामला नहीं मिला. शर्मा ने कहा कि कनाडा में सभी कोविड-19 में एक पांचवा हिस्सा बच्चों और युवाओं में हुआ है. उन्होंने जानकारी दी है कि इस वर्ग को वैक्सीन लगाना कनाडा के प्लान का अहम हिस्सा है. उन्होंने कहा है कि ज्यादातर बच्चों को कोविड-19 से गंभीर बीमारी महसूस नहीं हुई है. ऐसे में वैक्सीन उनके दोस्तों और परिवारों की सुरक्षा में भी खासी मदद करेंगी.

बच्चों में भी नजर आए साइड इफेक्टस
एपी के अनुसार, कंपनी ने बताया है कि बच्चों में भी युवाओं की तरह समान साइड इफेक्ट्स देखे गए हैं. जिसमें बुखार, दर्द, ठंड लगना और थकान शामिल है. हालांकि, लंबे समय की सुरक्षा के लिए स्टडी 2 साल तक जारी रहेगी. हाल ही के कुछ महीनों में कनाडा में टीकाकरण और तेज हुआ है.







Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *