रमजान पर अपमानजनक टिप्पणी करने वाले डच सांसद पर तुर्की ने बोला जुबानी हमला, कहा- यह है फासीवाद सोच


गीर्ट वाइल्डर्स (Photo by Marco BERTORELLO / AFP)

तुर्की के सत्तारूढ़ एके पार्टी के प्रवक्ता ओमर सेलिक ने वाइल्डर्स पर ‘नस्लवादी और फासीवादी मानिसकता का’ होने का आरोप लगाया.

अंकारा (तुर्की). तुर्की (Turky) के अधिकारियों ने रमजान की शुरुआत में इस्लाम के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने के बाद डच सांसद गीर्ट वाइल्डर्स (Geet Wilders) के प्रति नाराजगी जाहिर की है. सोमवार को नीदरलैंड में पार्टी फॉर फ्रीडम (पीवीवी) के अध्यक्ष वाइल्डर्स ने ट्विटर पर इस्लाम और मुस्लिमों पवित्र महीने पर हमला करने वाली एक छोटी वीडियो क्लिप शेयर की.

इसके बाद तुर्की के सत्तारूढ़ एके पार्टी के प्रवक्ता ओमर सेलिक ने बुधवार को वाइल्डर्स पर ‘नस्लवादी और फासीवादी मानिसकता का’ होने का आरोप लगाया.उन्होंने ट्विटर पर कहा ‘इस्लाम दुश्मन के प्रवासियों, गरीब लोगों, जरूरतमंद लोगों और विदेशियों से भी नफरत करते हैं.’ प्रेसीडेंसी ऑफ रिलिजियस अफेयर्स के प्रमुख अली अर्बास ने वाइल्डर्स की टिप्पणियों को ‘अस्वीकार्य’ बताया.

‘नस्लवाद बंद करो’
अर्बास ने कहा ‘मैं विश्व समुदाय को नस्लवादी मानसिकता के खिलाफ जागरूकता अभियान के आमंत्रित करता हूं जो इस्लामोफोबिया को उकसाता है और सामाजिक शांति को निशाना बनाता है.’ तुर्की के संचार निदेशक फहार्टिन अल्टुन ने भी वाइल्डर्स की टिप्पणी की निंदा की. उन्होंने कहा कि ‘हृदयहीन वाइल्डर्स जातिवादी, फासीवादी और अतिवादी है.इस्लाम सभी की निंदा करता है. नस्लवाद बंद करो.’

वाइल्डर्स यूरोप के सबसे प्रमुख राजनेताओं में से एक हैं और पिछले एक दशक में नीदरलैंड में आव्रजन बहस शुरू करने वालों में से एक महत्वपूर्ण व्यक्ति रहे. हालांकि वह कभी सरकार में नहीं रहे.वाइल्डर्स ने अक्सर डच राजनीतिक प्रतिष्ठान और मुसलमानों के खिलाफ टिप्पणी की है. इस्लाम से नाज़ीवाद की तुलना करने और कुरान पर प्रतिबंध लगाने की टिप्पणी के बाद वाइल्डर्स  साल 2011 में कुछ दिनों के लिए जेल में थे और इसी दौरान बरी हुए थे.







Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *