Corona: इटली ने लगाया भारत से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध, कई और देश भी लगा चुके हैं बैन


कॉन्सेप्ट इमेज.

भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते इटली सरकार (Italy Government) ने हिंदुस्तान से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध (Ban) लगा दिया है.

इटली. इटली (Italy) ने भारत से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध (Ban) लगा दिया है. भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते इटली सरकार ने यह फैसला लिया है. इससे पहले भी ब्रिटेन, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, कनाडा जैसे देश भारतीयों पर ट्रैवल बैन लगा चुके हैं. इटली के स्वास्थ्य मंत्री रॉबर्टो स्परांजा ने ट्विटर पर बताया कि उन्होंने उन यात्रियों के इटली में आने पर रोक के आदेश को मंजूरी दी है, जो बीते 14 दिनों में भारत गए हों या फिर भारत से ही आ रहे हों. भारत इन दिनों कोरोना के गंभीर संकट से जूझ रहा है. खासतौर पर डबल म्यूटेंट के चलते भारत बुरी तरह से प्रभावित है. हर दिन लगातार 3 लाख से ज्यादा केसों के चलते भारत में कोरोना से हाहाकार मचा है. हर दिन नए केसों का यह आंकड़ा पहली लहर के मुकाबले तीन गुना अधिक है. रविवार की ही बात करें तो भारत में लगातार चौथे दिन दुनिया में सबसे ज्यादा केस मिले हैं. इटली ने भारत से आने वाले यात्रियों पर बैन लगाया है, लेकिन अपने नागरिकों के लिए शर्तों के साथ छूट भी दी है. इसके लिए उन्हें यात्रा से पहले की कोरोना निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होगी. इसके अलावा पहुंचने के बाद एक बार फिर से उनका कोरोना टेस्ट किया जाएगा. ये भी पढ़ें: भारत में कोरोना का कहर! पाकिस्तान ने दिया वेंटिलेटर समेत कई उपकरणों का ऑफर यही नहीं दोनों टेस्ट में निगेटिव पाए जाने के बाद भी उन्हें क्वारंटाइन में जाना होगा. इसके अलावा जो इटली में ही हैं, लेकिन बीते 14 दिनों में कभी भारत गए थे, उन्हें भी टेस्ट से गुजरना होगा. इटली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत से आए नए कोरोना वैरिएंट का परीक्षण करने के लिए हमारे वैज्ञानिक काम कर रहे हैं. इस बीच सोमवार को बीते 24 घंटों में भारत में 3.54 लाख नए केस मिले हैं. इसके अलावा 2,806 लोगों की मौत हुई है. भारत में एक दिन में महामारी से जान गंवाने वालों की सर्वाधिक संख्या है. देश में कई दिनों से नए मरीजों और मौतों की सर्वाधिक संख्या दर्ज की जा रही है. यह लगातार छठा दिन है जब नए संक्रमितों की संख्या तीन लाख से अधिक रही.







Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *